Supreme court decision on rape case

खबरों को अपने एजेंडा के हिसाब से तोड़ मोड़ कर चलाने वाले मीडिया संस्थानों से सुप्रीम कोर्ट तक सुरक्षित नहीं

Fri, 03/12/2021 - 01:55

बीते कुछ सालों में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय काफी चर्चा में रहे हैं. चर्चा में कहना शायद काफी नहीं होगा बल्कि नकारात्मक चर्चा में रहे हैं, शायद यह पूर्ण हों. हालांकि, यह निर्णय पक्षानुसार पसंद किए जाते रहे हैं, ऐसे में सुप्रीम कोर्ट के फैसलों को ऐतिहासिक या बकवास अपने अपने पक्ष के मुताबिक बताया जाता है. जब तक सुप्रीम कोर्ट के फैसले केंद्र सरकार के खिलाफ आते रहे, एक विचारधारा के लोग उन्हें ऐतिहासिक बताते रहे. उत्तराखंड में सरकार गठन के मुद्दे पर फैसला हो या NJAC पर केंद्र सरकार को झटका, यहां तक कि रंजन गोगोई समेत 4 जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस तक को ऐतिहासिक बताया गया.

0 comments