Emergency

लोकतंत्र की नींव जर्जर हो चुकी है, ऊपर से ज्यादा नीचे के सिस्टम में खराबी है!

Wed, 06/27/2018 - 01:45

एक झूठ की दुनिया तैयार हो चुकी है जिसमें बताया जाता है कि देश में लोकतंत्र की हत्या 1975 में हुई थी.लोग उसे याद करते हैं किसी को कोसते हैं आगे भी ऐसा हो सकता है खासतौर पर अभी की सरकार में ये संभावना जोर शोर से जताते हैं. अभी की सरकार वाले कांग्रेस को घेरने के लिए 1975 का इस्तेमाल करते हैं. इंदिरा गांधी को कोसते हैं और आगे बढ़ जाते हैं.लेकिन इस बहस में जरूरत है राजनीतिक लोगों और उनसे प्रेरित लोगों से इतर एक चिंतन की जो 1975 में जो हुआ वो हुआ लेकिन एक आम आदमी आज के भारत में लोकतंत्र की सीढ़ी में कहां पर खड़ा हुआ है.

0 comments