श्रीलंका में हुए आतंकी हमले में भारत में ISIS की विचारधारा से प्रभावित हो कर सक्रीय हुए कुछ गुटों का रोल भी जाँच के दायरे में आया है। दक्षिण भारत में केरल और तमिलनाडु के कोयम्बटूर में ISIS से प्रभावित संगठनो की जाँच NIA ने शुरू कर दी है।

इससे पहले भी अफ़ग़ानिस्तान, लीबिया और यमन जैसे देशों में भी केरल के कुछ मुस्लिम युवकों द्वारा ISIS की तरफ से लड़ाई लड़ने की खबरे आती रही है। बांग्लादेश में हुए भीषण आतंकी हमले में भी ज़ाकिर नाइक का नाम सामने आया था उसी के बाद जब सरकार और सुरक्षा एजेंसियों ने उस पर सख्ती की तो वह अरब देशों में भाग गया।

केरल में ISIS से प्रभावित हो कर 22 युवकों के अफ़ग़ानिस्तान जाने की खबर भी आयी थी। उन्ही 22 युवको में से एक अशफाक मजीद जिसके पिता मुंबई में एक होटल चलाते है उन्होंने NIA को अपनी शिकायत में बताया था की ज़ाकिर नाइक के विचारों से प्रभावित होकर उनके बेटे ने आतंक की राह पकड़ी और अफ़ग़ानिस्तान जाने से पहले वह श्रीलंका के जाफना प्रान्त में कुरान का कोई कोर्स करने भी गया था। इन 22 युवकों में से ज्यादातर अमेरिका के मदर ऑफ़ आल बम के हमले में मारे गए थे पर अशफाक मजीद अभी भी जिन्दा है।

इसी बीच श्रीलंका में आतंक के खिलाफ अभियान में तेजी आयी है और वंहा की सुरक्षा एजेंसियो ने कल एक छापे के दौरान 15 लोगों को मार गिराया है। हालांकि मारे गए लोगों में 6 बच्चे भी शामिल है। सभी संदिग्ध एक ही मकान में छिपे हुए थे।