अरब देशों में काम कर रहे पाकिस्तानी डॉक्टरों की मेडिकल डिग्री की वैद्यता को सऊदी अरब, क़तर, सयुंक्त अरब अमीरात और बहरीन ने तत्काल ख़त्म कर दिया है। अरब देशों ने पाकिस्तान की मास्टर ऑफ़ सर्जरी और डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन की डिग्री को इन देशों में काम करने की योग्यता सूची से बाहर कर दिया है।

डिग्री अवैद्य घोषित करने के बाद इन सभी अरब देशों ने पाकिस्तानी डॉक्टरों को देश छोड़ के चले जाने के लिए कहा है और ऐसा न करने पर गिरफ्तार करने और देश से निकालने की कार्यवाही की जाएगी।

निकाले गए ज्यादातर पाकिस्तानी डॉक्टर्स सऊदी अरब में काम कर रहे है और सऊदी अरब सरकार के स्वस्थ्य मंत्रालय ने इस बारे में नोटिस जारी करते हुए कहा है की पाकिस्तानी डॉक्टरों की शिक्षा की गुणवत्ता में कमी है और वो सऊदी अरब के हेल्थ चिकत्सा सुविधा के मानकों पर खरे नहीं उतरते।

सऊदी अरब सरकार ने भारत, मिस्त्र, बांग्लादेश और सूडान के डॉक्टरों की डिग्री को वैध माना है और इन देशों से डिग्री पास किये हुए डॉक्टर वंहा पर काम करते रह सकते है। पाकिस्तान के निकाले गए सभी डॉक्टर को 2016 में सऊदी अरब सरकार ने नौकरी दी थी।