नेपाल में भारी बारिश होने से कैलाश मानसरोवर यात्रा पर गए लगभग 1500 यात्री अलग अलग पहाड़ी हिस्सों में फंस गए है। भारी बारिश और रोशनी की कमी की वजह से बचाव कार्य में मुश्किल आ रही है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अलग अलग भाषाओ के हेल्प लाइन नंबर ट्वीट करके जारी किये है। भारतीय दूतावास के अधिकारी ट्रेवल एजेंट्स के लगातार संपर्क में है और ये कोशिश कर रहे है की तिब्बत की तरफ फंसे हुए यात्री मौसम सही होने तक उस तरफ ही रहे क्यों की नेपाल की तरफ वाले इलाको में बुनियादी सुविधाओं की भारी कमी है।

भारतीय मिशन इस बात का भी प्रयास कर रहा है की नेपाल की सेना के हेलीकॉप्टर से बचाव में मदद के लिए कहा जाये।
आप को बता दे की कैलाश मानसरोवर यात्रा बेहद ही दुर्गम व कठिन मार्ग से होकर गुजरती है। यात्रा के दौरान सामान्य परिस्तिथियों में सांस में दिक्कत होना और नाक से खून आना आम बात है।