सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर को इन दिनों पाकिस्तान में विरोध का सामना करना पड़ रहा है. दरअसल पाकिस्तानियों का आरोप है कि कश्मीर मुद्दे पर ट्वीट लिखने के बाद उनके अकाउंट डिएक्टिवेट किए जा रहे हैं. पाकिस्तान अखबार डॉन का दावा है कि ट्विटर ने 200 ऐसे अकाउंट को बंद कर दिया है जिन्होंने कश्मीर के बारे में ट्वीट किया था. जिन लोगों के अकाउंट बंद होने की बात की जा रही है उनमें पत्रकार, एक्टिविस्ट, सरकारी अधिकारी से लेकर पाकिस्तानी सेना के ट्विटर फैन अकाउंट भी शामिल हैं.

ट्विटर के इस कदम के विरोध में पाकिस्तान में हैशटैग चलाया गया है. #StopSuspendingPakistanis हैशटैग पाकिस्तान में सोशल मीडिया पर ट्रेंड हो रहा था. पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता जनरल आसिफ गफूर ने इस बारे में बयान देते हुए कहा है कि पाकिस्तान इस मुद्दे को फेसबुक और ट्विटर के सामने उठा चुका है. पाकिस्तान की टेलीकॉम मिनिस्ट्री ने इस बारे में ट्विटर की पाकिस्तानी शाखा में शिकायत दर्ज कराई है.पाकिस्तान में सरकारों द्वारा चलाए जाने वाले कुछ अकाउंट में सस्पेंड किए गए हैं. इनमें पाकिस्तानी पंजाब प्रांत के सीएम मशवानी अजहर का नाम भी शामिल है. अजहर ने भी कश्मीर के मुद्दे पर ट्वीट किया था.

ट्विटर ने भी एक बयान जारी कर सफाई दी है. "हमारा मानना है कि हर पक्ष के लोगों को हमारी नीतियों के दायरे में रहकर अपनी बात कहने का मौलिक अधिकार है. हमारी नीतियां आतंकवाद, नफरत भरे व्यवहार और अपशब्दों के खिलाफ हैं और ट्विटर पर कोई भी नियम से ऊपर नहीं है." हालांकि ट्विटर ने कुछ अलग खास लोगों के ट्विटर अकाउंट सस्पेंड होने पर टिप्पणी करने से मना कर दिया.