आपने 2001 के अमेरिका में हुए वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमले के बारे में सुना होगा लेकिन क्या आपको मालूम है की 1993 में भी वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला हुआ था. जी हां 1993 में आज ही के दिन आतंकियों ने वर्ल्ड ट्रेड सेंटर को निशाना बनाया था. उस वक्त एक ट्रक बम को कार पार्किंग में उड़ा दिया गया था. ये जगह वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के एक टावर के पास थी. इसमें 6 लोगों की मौत हुई और 1000 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे.

इन हमलों में बाल बाल बचने वाले कार्ल शेलिंजर ने इस दिन के वाकए को अमेरिका के एनबीसी चैनल पर शेयर किया.शेलिंजर बताते हैं उस दिन उनकी वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के डायरेक्टर के साथ मीटिंग थी.मीटिंग के बाद शेलिंजर लंच करने के लिए बिल्डिंग के दूसरे फ्लोर पर जाने के लिए लिफ्ट में सवार हुए.कुछ देर बाद ही लिफ्ट बंद हो गई.कार्ल बताते हैं उन्हें बुरी तरह शोर सुनाई दे रहा था.लोग मदद के लिए गुहार लगा रहे थे.ऐसे में कार्ल को लगा की वो शायद लिफ्ट से जिंदा नहीं निकल पाएंगे.ऐसे में कार्ल ने अपनी पत्नी और बच्चों के नाम एक मार्मिक पत्र लिखा.वो बताते हैं उस वक्त एक एक मिनट कई घंटों के बराबर लग रहा था.इसी बीच वहां राहत और बचाव का काम शुरू हो चुका था.

न्यूयॉर्क पुलिस डिपार्टमेंट के टिम फेरर के हाथ में बचाव की कमान थी.ऐसे वक्त में जब शेलिंजर को अपनी मौत तय दिख रही थी अचानक फेरर अपनी टीम के साथ पहुंचे और उन्होंने शेलिंजर को सुरक्षित निकाल लिया.शेलिंजर के मुताबिक ऐसे भयंकर माहौल में वो साढ़े पांच घंटे तक लिफ्ट में फंसे रहे.फेरर और उनकी टीम ने बेहतरीन तरीके से अपने काम को अंजाम दिया.सुरक्षित निकलने के बाद शेलिंजर अपनी बाकी जिंदगी को दूसरी जिंदगी के मिलने की तरह बताते हैं.

6 लोगों की जान लेने वाले इस हमले के लिए पहले चार आतंकियों को दोषी ठहराया गया और उन्हें 240 साल की सजा सुनाई गई.हालांकि बाद में मिस्र के एक अंधे मुस्लिम मौलवी उमर आब्देल रहमान को भी इस धमाके का दोषी पाया गया और आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई.रहमान 1980 में अफगानिस्तान गया था जहां उसकी मुलाकात ओसामा बिन लादेन से हुई.दोनों के बीच दोस्ती हुई जिसके बाद रहमान 1990 में अमेरिका आया और एक न्यूजर्सी में मस्जिद में तकरीरे करने लगा.रहमान के ही 4 अनुयायियों को हमले का दोषी पहले ठहराया गया था.रहमान की 2017 में अमेरिका की ही एक जेल में मौत हो गई.बताया जाता है की मौत के वक्त वो डायबिटीज और दिल की बीमारी से पीड़ित था.