आंध्र प्रदेश के बंटवारे के बाद तेलंगाना अलग राज्य बना और हैदराबाद उसकी राजधानी.अब आंध्र प्रदेश ने अमरावती को अपनी राजधानी बनाने का फैसला किया है.
अमरावती को न केवल राजधानी बनाने का फैसला किया गया है बल्कि इसे एक बेहतरीन आधुनिक शहर के तौर पर विकसित करने का फैसला भी किया गया है.कृष्णा नदी के तट पर बसे इस शहर को विकसित करने का काम दिया गया है नॉर्मन फोस्टर+पार्टनर्स फर्म को. तो आइए आपको बतातें हैं कि कौन हैं नॉर्मन फोस्टर

नॉर्मन फोस्टर लंदन के एक मशहूर आर्किटेक्ट हैं.इनकी कंपनी का नाम नॉर्मन फोस्टर फाउंडेशन है.नॉर्मन फोस्टर को 1999 में आर्किटेक्ट दुनिया का नोबेल कहे जाने वाले प्रिट्जकर आर्किटेक्चर प्राइज से सम्मानित किया जा चुका है. 1935 में ब्रिटेन के मैनचेस्टर शहर में जन्में फोस्टर ने 16 साल की उम्र में स्कूल छोड़ दिया था और इसकी वजह स्कूल में उनको परेशान किया जाना था.
स्कूल छोड़ने के बाद फोस्टर ने टाउन हॉल में क्लर्क के तौर पर भी काम किया और उसके बाद आर्किटेक्चर की पढ़ाई में भी कदम रखा. ब्रिटिश अखबार द इंडिपेंडेंट से अमरावती के बारे में बात करते हुए फोस्टर कहते हैं," अमरावती शहर का डिजायन एक टिकाऊ शहर बनाने के लिए हमारे दशकों के रिसर्च और भारत में विकसित हालिया तकनीकों का एक मिश्रण होगा.
फोस्टर ने अमेरिका की येल यूनिवर्सिटी से भी पढ़ाई की है. यहीं उनकी मुलाकात रिचर्ड रोजर के साथ हुई. फोस्टर ने यहीं रोजर और दो साथियों के साथ एक संगठन बनाया. जो बाद में 1967 में फोस्टर+पार्टनर्स के नाम से विख्यात हुआ.
फोस्टर का नाम आर्किटेक्चर की दुनिया में यूंही विख्यात नहीं है दरअसल कई पुरानी इमारतों को फिर से बेहतरीन तरीके से संवारने का काम फोस्टर ने किया है.
हम आपको बताने जा रहे हैं फोस्टर के ऐसे ही कुछ कामों के बारे में

1- दुनिया का सबसे ऊंचा पुल- फ्रांस के पेरिस से मोंटेपिलर तक ब्रिज बनाने का काम फोस्टर ने किया है. मिलौ वैदुकट नाम से जाना जाने वाला ये पुल 343 मीटर लंबा है.मिलौ वैदुकट को इंजीनियरिंग की दुनिया की सबसे उत्कृष्ट उपलब्धियों में माना जाता है.

2.चाइना की राजधानी का बीजिंग में इंटरनेशनल एयरपोर्ट का टर्मिनल 3-फोस्टर ने 2008 ओलंपिक से पहले ही एयरपोर्ट पर ये टर्मिनल तैयार किया था.लोगों के अनुभव के आधार पर इसे दुनिया का सबसे आधुनिक और सुविधाजनक एयरपोर्ट बताया जाता है.

इनके अतिरिक्त ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का लंदन म्यूजियम में कोर्ट, लंदन का कैनरी व्हार्फ,जर्मनी की राजधानी बर्लिन की रिचस्टैग बिल्डिंग का दोबारा निर्माण,लंदन का सिटी हाल,सिंगापुर का न्यू सुप्रीम कोर्ट और अर्जेंटिना में ब्यूनस आयर्स सिटी हॉल का निर्माण भी फोस्टर+पार्टनर्स ने किया है.
बेशक अमरावती को आधुनिक बनाने का जिम्मा फोस्टर+पार्टनर्स ने लिया है लेकिन बीते समय में अपने धीमे काम की वजह से आंध्र प्रदेश सरकार निशाने पर रही है.अमरावती की धूल भरी सड़कों और धीमे विकास कार्यों के बारे में स्थानीय मीडिया में काफी चर्चा भी रही है ऐसे में फोस्टर और उनके साथी इस चुनौतीपूर्ण काम को किस तरह अंजाम देते हैं ये देखने वाली बात होगी.