ग्रीस की राजधानी एथेंस के आसपास जंगलो में लगी आग की वजह से भीषण तबाही हुई है। अब तक 20 लोगो के मारे जाने और 100 से ज्यादा लोगो के घायल होने की खबर है। तेज हवा मानो आग में घी का काम कर रही है।

ग्रीस ने इमरजेंसी घोषित की है और साथ ही यूरोपियन यूनियन से मदद की गुहार भी की है। ग्रीस के अग्निशमन कर्मचारी पूरी रात आग पर काबू पाने का प्रयास करते रहे। पर आग की तीव्रता अत्याधिक तेज होने की वजह से काबू पाना बहुत ही मुश्किल साबित हो रहा है।
एथेंस के कई इलाको को खाली करा लिया गया है। बहुत से इलाको के लोग गहरे पीले रंग के उठ रहे धुएं से परेशान होकर घर छोड़ कर भागने पर मजबूर हुए है।

इस तरह की आग ग्रीस में पहली बार नहीं है, इससे पहले 2007 में जंगल में लगी आग से दर्जनों लोग मारे गए थे। ग्रीस के प्रधानमंत्री अलेक्सिस त्सिप्रास ने कहा की "एक मानव जितना प्रयास कर सकता है हम वो हर संभव कोशिश कर रहे है जिससे इस आग पर काबू पाया जा सके"

ग्रीस सरकार के एक मंत्री ने कहा की ये आग किसी आदमी द्वारा जानबूझ कर लगायी हुई मालूम पड़ती है।

आग से उठ रहे धुंए से हाईवे पर धुंध छा गयी है, जिससे बचाव कार्य में बाधा पहुंच रही है। कुछ गांव के लोग और डेनमार्क के 10 टूरिस्ट आग से बचने के लिए पानी की तरफ भाग गए जिन्हे बचाने के प्रयास जारी है।