भारतीय मूल के चरणप्रीत सिंह लाल पहले सैनिक बन गए जिन्होंने ब्रिटेन की महारानी के सम्मान में आयोजित होने वाले ट्रूपिंग द कलर समारोह में हैट की जगह पगड़ी पहनी.

22 साल के चरणप्रीत सिंह का जन्म पंजाब में हुआ था लेकिन बचपन में ही वो ब्रिटेन चले गए और जनवरी 2016 में उन्होंने आर्मी ज्वाइन की. चरणप्रीत उन 1000 सैनिकों में हैं जिन्होंने महारानी के सम्मान में आयोजित ट्रूपिंग द कलर में हिस्सा लिया.
हाल ही में प्रिसं हैरी से शादी के बाद रॉयल फैमिली का हिस्सा बनीं मेगान मर्केल भी पहली बार इस समारोह का हिस्सा बनीं.

अपनी इस उपलब्धि के बारे में बात करते हुए चरणजीत ने कहा,"मुझे उम्मीद है कि लोग ये देख रहे होंगे और वो इसे इतिहास में एक नए बदलाव के तौर पर देखेंगे.मुझे उम्मीद मेरे इस काम के बाद न केवल सिख बल्कि अन्य धर्मों के लोग भी सेना में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित होंगे.

ब्रिटिश सेना की पहली गोल्डस्ट्रीम बटालियन के सदस्य चरणजीत ने अपनी पगड़ी पर समारोह से संबधित स्टार लगा रखा था ताकि बाकी साथी सैनिकों से उनकी वेशभूषा मिलती रहे.

समारोह में शामिल होने से पहले चरणजीत ने कहा,"मुझे खुद पर गर्व है और उम्मीद है कि लोगों को भी मुझ पर गर्व होगा.ये अच्छा अनुभव होगा.बहुत से लोगों की निगाहें इस पर होगीं और मैं तमाम दूसरों पर इसका प्रभाव डालने जा रहा हूं.

आपको बता दें कि सन 1748 से ही ब्रिटेन की महारानी के जन्मदिन पर इस तरह की परेड आयोजित करने की परंपरा रही है