आजकल जब हम अपने दोस्तों के सामने बड़े ही घमंड के साथ फ़ोन से बैठे बैठे घर की बत्तियाँ बुझा देते है या एक आवाज लगायी "ओके गूगल" और गाना बजा दिया और फिर शेखी बघारते हुए कहते है की भाई गूगल होम ले लिया है। और फिर आर्टिफिशल इंटेलीजेन्स जैसे शब्दों के साथ बड़ी बड़ी बातें करते है।

पर कभी आपने ये सोचा है की इन ऑडियो रिकॉर्डिंग की जो फाइल बनती है उसे कोई व्यक्ति सुन भी सकता है। गूगल ने ये बात मानी है की उसके कॉन्ट्रैक्टर्स यानि की हिंदी में बोले तो गूगल के लिए काम करने वाले किसी और कंपनी के कर्मचारी आप की उन ऑडियो फाइल को सुन सकते है जो गूगल होम का आर्टिफिशल इंटेलीजेन्स सिस्टम रिकॉर्ड करता है।

कंपनी ने बृहस्पतिवार को ये तब माना जब डच भाषा में रिकॉर्ड की हुई तमाम फाइल्स इंटरनेट पर लीक हो गयी। गूगल का कहना है की वो इस लीक की जाँच कर रहे है।

ये सभी ऑडियो फाइल बेल्जियम के सरकारी प्रसारणकर्ता VRT को सूत्रों से प्राप्त हुई, उसके बाद जाँच करने पर पता लगा की फाइलों की संख्या 1000 से भी ज्यादा है और 153 फाइल ऐसे है जिन्हे लोगों ने रिकॉर्ड नहीं किया बल्कि गूगल होम ने गलती से लोगों की बातचीत को रिकॉर्ड कर उनकी फाइल बना दी थी।

गूगल का कहना है की उसके लिए काम करने वाले कर्मचारी मुख्यता भाषा के पैटर्न और लोगों के बातचीत के तरीके को समझने के लिए इन फाइल को सुनते है और सिस्टम को बेहतर बनाने का काम करते है। हालांकि ये फीचर को बंद किया जा सकता है पर गूगल का कहना है की फिर इसे बेहतर बनाने में मुश्किल आएगी।

कंपनी के प्रवक्ता ने कहा की केवल 0.2 प्रतिशत फाइल ही लोगों के द्वारा सुनी जा सकती है और इन फाइल से लोगों की पहचान को पहले ही हटा दिया जाता है।

हालांकि VRT का कहना है की उसे मिली फाइल से यूजर की पहचान की जा सकती है। यंहा तक की एक व्यक्ति के घर का पता और दूसरे की निजी जानकारी तक मौजूद थी। इन ऑडियो फाइल के जरिये लोगों की निजी बातें जैसे एक परिवार का अपने छोटे बच्चे के बारे में बातें करना, एक यूजर के आपसी प्रेम संबध की बातें साफ़ साफ़ सुनी जा सकती है जो की बेहद ही निजी बातें है।

2017 में गूगल ने इस बात की पुष्टि की थी की उसके गूगल होम स्पीकर में एक बग यानि की खराबी है जिसकी वजह से कई बार सिस्टम को एक्टिवेट किये बिना ही ये लोगों की बातें रिकॉर्ड करना शुरू कर देता है। ब्लूमबर्ग में छपी एक खबर के मुताबिक अमेज़न के अलेक्सा डिवाइस की ऑडियो रिकॉर्डिंग भी तीसरी कंपनी के कर्मचारी सुन सकते है। इस खबर की पुष्टि अमेज़न ने भी की थी।