जम्मू कश्मीर के अवंतीपुरा इलाके में कल रात से तीन अलग अलग जगह पर आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है। एक मुठभेड़ स्थल पर एक आतंकी के मारे जाने की आधिकारिक रूप से पुष्टि की गयी है। मारे गए आतंकी के पास से एक AK-56 राइफल, पांच मागज़ीने, तीन चीन के बने हैंड ग्रेनेड और 2 फ़ोन बरामद किये गए है।

एक अन्य मुठभेड़ जो अवंतीपुरा के बेगपुरा इलाके में चल रही है इसी जगह पर हिजबुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर और मौजूदा सक्रीय आतंकियों में सबसे पुराना आतंकी रियाज नाइकू के फंसे होने की खबर है। अपुष्ट खबरों के अनुसार नाइकू मुठभेड़ में मारा जा चुका है पर आधिकारिक रूप से इस बात की पुष्टि अभी नहीं की गयी है।

हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी सरगना बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से रियाज़ कश्मीर में हिजबुल की गतिविधियां संचालित कर रहा था। घाटी में कई आतंकी घटनाओं में उसका नाम आने के बाद से सेना के निशाने पर था।

कश्मीर: हंदवाड़ा मुठभेड़ में सेना के कर्नल, मेजर सहित 5 जवान शहीद, 2 आतंकी भी मारे गए

रियाज नाइकू के साथ 2 अन्य हिजबुल कमांडर भी बेगपुरा में सेना के शिकंजे में फंसे हो सकते है। घाटी में मोबाइल इंटरनेट की सेवाएं बंद कर दी गयी है।

रियाज़ नाइकू पुलवामा जिले की अवंतीपुरा तहसील के बेगपुरा इलाके का ही रहने वाला है। उसके पिता अस्सुदल्ला और माँ ज़ेबा खेतीबाड़ी का काम करते है और साथ ही उसके पिता की एक दर्जी की दुकान भी है। नाइकू के बारें में कहा जाता है की आतंकी बनने से पहले वह इलाके में गणित का अध्यापक हुआ करता था।

इंटरमीडिएट परीक्षा उसने 77 प्रतिशत नंबर के साथ पास की थी और उसके बाद गणित में ही स्नातक की डिग्री ले रखी थी। धीमे धीमे उसमे धार्मिक कट्टरता बढ़ती गयी और एक दिन अपने पिता से पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए 7000 रूपये लेकर वो घर से भाग गया। कई दिन लापता रहने के बाद उसके घर वालों को सुरक्षा बलों से जानकारी मिली की वो हिजबुल का आतंकी बन चुका है।