आजकल लोग बड़ी संख्या में ऑनलाइन ठगी और चोरी का शिकार हो रहे हैं. घर में चोरों से बचाने के लिए लोग अपनी मेहनत की कमाई बैंक अकाउंट में रखते हैं लेकिन ऑनलाइन ठगी करने वाले लोग आपका पैसा यूंही उड़ा देते हैं. खास बात ये है कि इसके बारे में ज्यादा जानकारी न होने की वजह से लोग ज्यादा कुछ कर भी नहीं पाते. फिर भी आप ये जान सकते हैं कि किस बैंक में आपका पैसा सबसे ज्यादा सुरक्षित है ? या किस बैंक में ऑनलाइन फ्रॉड के सबसे ज्यादा मामले सामने आते हैं.

रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक 2018-19 में ऑनलाइन फ्रॉड के सबसे ज्यादा मामले स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में सामने आए हैं. रिजर्व बैंक के आंकड़े 1 लाख रूपये या उससे ऊपर के ऑनलाइन फ्राड के हैं. रिजर्व बैंक के मुताबिक 2018-19 में स्टेट बैंक में ऑनलाइन फ्रॉड के 206 मामले सामने आए हैं. ऑनलाइन फ्रॉड के मामले में दूसरे नंबर पर कोटक महिंद्र बैंक है. यहां 133 मामले सामने आए हैं. प्राइवेट सेक्टर की जानीमानी बैंक HDFC भी ऑनलाइन फ्रॉड के मामले में तीसरे नंबर पर हैं. यहां 116 मामले सामने आए हैं. प्राइवेट सेक्टर की सबसे बड़ी बैंक के तौर पर जानी जाने वाली ICICI बैंक का रिकॉर्ड भी अच्छा नहीं है यहां 2018-19 में 107 मामले सामने आए हैं.

एक्सिस बैंक ऑनलाइन फ्रॉड के मामले में 5वें नंबर पर है. यहां ऑनलाइन फ्रॉड के 63 मामले हैं. एक्सिस बैंक के बाद IDBI बैंक (49), इंडसंड बैंक (34), इंडियन बैंक (11), केनरा बैंक (8), यूनियन बैंक (7) का नाम लिस्ट में आता है. ऑनलाइन फ्रॉड के मामलों को देखकर लगता है कि सरकारी बैंकों में स्टेट बैंक की हालत खराब जरूर है लेकिन फिर भी बाकी बैंकों की हालत फिर भी ठीक है. प्राइवेट सेक्टर का कोई बैंक भले ही सूची में शीर्ष पर न हो लेकिन इन सभी में ऑनलाइन फ्रॉड की हालत बड़ी खराब है और कोई खास सुरक्षा इनमें भी नहीं है.