लद्दाख के पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर भारत और चीन के सैनिको के बीच दोबारा फिर से झड़प की खबर है। 15 जून को हुए खुनी संघर्ष के बाद ये दूसरी बड़ी झड़प है। जबकि सीमा पर दोनों तरफ काफी बड़ी संख्या में सैनिकों का जमावड़ा लगा हुआ है।

प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो के अनुसार ये घटना तब हुई है जब दोनों सेनाओं के बीच तनाव को कम करने के लिए लगातार बातचीत जारी है। पूर्वी लदाख के चुशुल में ब्रिगेड लेवल के अधिकारियों के बीच बातचीत चल रही थी उसी बीच पैंगोंग झील से ताजा झड़प की खबर आयी है। हालांकि झड़प के बाद भी बातचीत जारी है।

सेना के प्रवक्ता के अनुसार, 29/30 अगस्त की रात को चीन के सैनिकों ने इलाके में आगे बढ़ कर वास्तविक नियंत्रण रेखा को बदलने का प्रयास किया जिसके बाद भारतीय सैनिकों के विरोध के बाद दोनों सेनाओं में संघर्ष हुआ।

भारतीय सेना के विरोध के बाद चीनी सैनिक अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो सकें। चीन की आक्रामक रुख के बाद भारतीय नौसेना ने अपना विमानवाहक पोत को दक्षिणी चीन सागर में तैनात किया है। चीन दक्षिणी चीन सागर पर अपना कब्ज़ा बताता रहा है और दुनिया के कई देश जिसमे अमेरिका भी शामिल है उसके इस दावे का विरोध करते रहे है।