इंदिरापुरम के वैभव खंड से एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आयी है। पति और पत्नी ने अपार्टमेंट की आठवीं मंजिल से कूद कर जान दे दी। उनके साथ ही घर में मौजूद एक अन्य महिला ने भी बालकनी से कूद कर आत्महत्या कर ली।

घटना की जानकारी होने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने अपार्टमेंट से दो शव और बरामद किये। दोनों शव आत्महत्या करने वालें पति और पत्नी के बच्चों के थे। पुलिस ने जाँच में पाया की दोनों बच्चों की हत्या कर दी गयी थी। पुलिस ये जाँच कर रही है की पति और पत्नी ने ही आत्महत्या करने से पहले बच्चों की हत्या की या किसी और शख्स का हाथ है। मरने वालों में पुरुष का नाम गुलशन और महिलाएं गुलशन परवीन और संजना है। मृतक बच्चों में बेटी कृतिका की उम्र 18 साल और बेटे ऋतिक की उम्र 13 साल बताई जा रही है। गुलशन की पत्नी के अलावा मृत पायी गयी अन्य महिला को भी गुलशन की दूसरी पत्नी बताया जा रहा है।

पुलिस को दीवार पर एक सफ़ेद बोर्ड पर सुसाइड नोट लिखा मिला है जिसमे मृतक ने परिवार की मौत के लिए राकेश नाम के व्यक्ति को दोषी बताया है। साथ ही बोर्ड पर 500 रुपया का नोट और एक बाउंस चेक भी मिला जिसके बारें में लिखा गया था की ये उनके अंतिम संस्कार का खर्चा है और सभी पांच लोगों का अंतिम संस्कार एक साथ किया जाए। मृतक गुलशन ने मरने से पहले पालतू खरगोश की भी हत्या कर दी थी। खरगोश का शव एक कार्डबोर्ड के डिब्बे से बरामद हुआ।

मृतक गुलशन के भाई ने पुलिस को पूछताछ में बताया की गुलशन के साढ़ू राकेश ने 2 करोड़ रूपये की धोखाधड़ी कर दी थी जिससे गुलशन का परिवार आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। आर्थिक तंगी के चलते ही गुलशन और उसके परिवार ने यह भयानक कदम उठाया है।