बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में बेहद ही नृशंस तरीके से पति, पत्नी और उनके 7 साल के बेटे के गला काट कर हत्या कर दी गयी। पत्नी आठ माह की गर्भवती थी और पेट में पल रहे बच्चे की भी मौत उनके साथ हो गयी।

बेहद ही क्रूर तरीके से अंजाम दिए गए इस हत्या कांड के शिकार प्राइमरी टीचर बंधु प्रकाश पाल (35 ) उनकी पत्नी ब्यूटी मंडल पाल (30) और पुत्र अंगन बंधु पाल (7) हुए। हत्याकांड की फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद लोगों में घटना को लेकर काफी आक्रोश है।

बंधु प्रकाश पाल पेशे से प्राइमरी टीचर थे और साथ ही राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ के एक्टिव सदस्य भी थे। इलाके के लोग उन्हें बेहद सौम्य और सज्जन पुरुष के तौर पर जानते है। घटना विजय दशमी के दिन दोपहर में उस समय हुई जब बंधु प्रकाश बाजार से घर वापस आये। उसके कुछ देर बाद ही घर से चीखने की आवाज सुन कर आस पड़ोस के लोग घर में घुसे तो उन्होंने ने घर से भागते हुए एक व्यक्ति को देखा।

अंदर जाने पर भयावह माहौल देख लोगों के पैरो से जमीन खिसक गयी। एक कमरे में बेड पर बंधु प्रकाश की लाश पड़ी हुई थी जबकि उसी कमरे में फर्श पर बेटे की गर्दन रेती हुई लाश पड़ी थी। दूसरे कमरे में पत्नी ब्यूटी मंडल की गर्दन रेती हुई लाश पड़ी थी। मरते वक्त भी महिला का एक हाथ उनके गर्भवती पेट पर था।

तमाम दबाव के बावजूद स्थानीय पुलिस घटना के कारण का पता लगाने में असफल दिख रही है। क्यों की घटनास्थल से किसी तरह का कोई भी कीमती सामान गायब नहीं है इसलिए लूट जैसा कोई मकसद दिखाई नहीं देता। पुलिस भूमि विवाद या आपसी रंजिश का मामला मान का जाँच को आगे बढ़ा रही है। स्थानीय लोग घटना की सीबीआई जाँच की मांग कर रहे है।