बीते दिनों चीन ने पहली बार ये माना की उसके 5 सैनिक गलवान घाटी में भारत के साथ हुए संघर्ष में मारे गए थे। इससे पहले कभी भी उसने अपने सैनिक मारे जाने की बात स्वीकार नहीं की। हालांकि भारतीय सेना ने अपने बयान में चीन के 45 सैनिक मारे जाने की बात शुरुआत से ही बताई थी पर चीन इसे नकारता रहा।

लद्दाख की गलवान घाटी में हुए संघर्ष में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे जबकि चीन के 45 सैनिक मारे गए थे। हाल ही में चीन ने गलवान घाटी में मारे गए सैनिकों में से 5 को मेडल दिए थे। साथ ही उसने लड़ाई की कुछ फुटेज का वीडियो भी सोशल मीडिया पर जारी किया था।

चीन द्वारा जारी किये गए वीडियो में भारतीय सैनिक बेहद ही बहादुरी और आक्रामक अंदाज में दुश्मन सेना को जवाब दे रहे है। शून्य से भी नीचे तापमान में भारतीय सैनिक बर्फीले पानी वाली नदी को पैदल पार करते हुए चीनी सैनिकों को जवाब दे रहे है।

इसी वीडियो में अपने सैनिकों की टुकड़ी का नेतृत्व कर रहे बिहार रेजिमेंट के युवा कैप्टन सोइबा मॉनिंग्बा रंगनमेई की फोटो काफी वायरल हो रही है। कैप्टन सोइबा मणिपुर के सेनापति जिले के रहने वाले है। उनके चेहरे पर किसी भी तरह को कोई शिकन नहीं है और वे दुश्मन को बेहद आक्रामक अंदाज में पीछे धकेल देते है।

चीन को भारतीय सेना के आक्रामक रुख की वजह से पीछे हटना पड़ा और वह अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाए।