उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में ओम पाल शर्मा नाम का एक शख्स बिना किसी डिग्री के फर्जीवाड़ा करके सरकारी सामुदायिक केंद्र में न सिर्फ कॉन्ट्रैक्ट पर नौकरी पाने में सफल हो गया बल्कि पिछले 10 साल की नौकरी के दौरान हजारों ऑपरेशन भी कर दिए।

ओम पाल शर्मा, भारतीय वायु सेना के मंगलोर एयर बेस पर में पैरामेडिक के तौर पर काम करता था। उसके रिपोर्टिंग डॉक्टर राजेश आर. जब मंगलोर से विदेश चले गए। तब ओम पाल ने डॉक्टर राजेश की डिग्री पर अपनी फोटो लगा कर अपना नाम डॉक्टर राजेश कर लिया।

एयरफोर्स से सेवा मुक्त होने के बाद ओमपाल सहारनपुर चला आया और वंहा पर डॉक्टर राजेश के नाम से अपना नर्सिंग होम चलाने लगा। इसी दौरान उसने स्थानीय सरकारी सामुदायिक केंद्र में भी कॉन्ट्रैक्ट पर नौकरी हासिल कर ली।

उसके इस फर्जी वाड़े का पता तब चल सका जब किसी शख्स ने ओमपाल को फ़ोन कर उसकी सही पहचान न जारी कर देने के बदले में 40 लाख रूपये फिरौती के तौर पर मांगे। ओमपाल उस व्यक्ति की शिकायत करने पुलिस के पास पहुंच गया क्योकि उसे ये विश्वास था की उसकी पोल खुल नहीं पायेगी।

पुलिस ने मामले की जाँच की तो ओमपाल की डिग्री को फर्जी पाया गया। फिलहाल ओमपाल पुलिस की हिरासत में है।