पीएम मोदी की आर्थिक सलाहकार परिषद के सदस्य रहे अर्थशास्त्री सुरजीत भल्ला ने लोकसभा चुनाव 2019 पर अपना विश्लेषण प्रकाशित किया है. भल्ला के मुताबिक बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक के बाद बीजेपी अकेले 300 या उससे ज्यादा सीटें जीत सकती है. भल्ला ने अपने विश्लेषण को एक किताब की शक्ल दी है. इस किताब का नाम सिटिजन राज इंडियन इलेक्शन्स 1952-2019 है. आपको बता दें कि भला ने बीते साल एक दिसंबर को पीएम की आर्थिक सलाहकार परिषद से इस्तीफा दिया था.उनके इस्तीफे की खासी चर्चा हुई है.

सुरजीत भल्ला ने अपनी किताब में पिछले लोकसभा चुनावों और खासकर 2014 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर विश्लेषण लिखा है. इन चुनावों में वोट परसेंटेज के आधार पर भल्ला ने विश्लेषण किया है. उन्होंने अपनी किताब में वोटिंग परसेंटेज के समीकरण बनाए हैं और उनके आधार पर अपने विश्लेषणों को किताब की शक्ल में प्रकाशित किया है. भल्ला ने अपनी किताब में लोकसभा चुनावों में गठबंधन, हालिया विधानसभा चुनावों के नतीजे, वोटिंग के पुराने पैटर्न, विधानसभा चुनावों में हुए बदलाव और कई मॉडलों के आधार पर बीजेपी को 274 सीटें मिलने का अनुमान लगाया था.

पुलवामा में हुए हमले और उसके बाद पाकिस्तान पर भारत की एयर स्ट्राइक के बाद भल्ला मानते हैं कि बीजेपी को बड़ा फायदा होगा. उनके मुताबिक इससे बीजेपी की सीटों में 10 फीसदी का इजाफा हो सकता है. इसके बाद बीजेपी को अकेले 300 सीटें तक मिल सकती हैं. पुलवामा के बाद अगर बीजेपी को 10 फीसदी सीटों तक नुकसान होता तो भी बीजेपी अपने दम पर 250 सीटें लाने तक में कामयाब रहेगी.

सुरजीत भल्ला ने अपनी किताब में यूपी का खास जिक्र किया है. उनके मुताबिक यूपी में बीजेपी 62 सीटें लाने में कामयाब रहेगी. वो लिखते हैं कि 2014 में बीजेपी को यूपी में मिले वोटों के आधार पर बीजेपी 62 सीटें जीतती दिखती है. वो लिखते हैं कि 2014 में बीजेपी को यूपी में 42.3 फीसदी वोट मिले थे. एसपी-बीएसपी को कुल मिलाकर 41.8 फीसदी वोट मिले थे. कांग्रेस को चुनाव में 7.5 फीसदी वोट मिले थे. यूपी में इन समीकरणों के आधार पर 41 सीटों पर बीजेपी की जीत का मार्जिन 15 फीसदी तक बढ़ जाएगा. दरअसल गठबंधन से बाहर रहने की वजह से कांग्रेस ने चुनाव को लगभग त्रिकोणीय संघर्ष में बदल दिया था.

2017 में एसपी और कांग्रेस साथ मिलकर यूपी में विधानसभा चुनाव लड़े थे. उस वक्त दोनों को साथ मिलाकर 28 फीसदी वोट मिले थे. 2014 के लोकसभा चुनाव के मुकाबले (जब दोनों अलग अलग लड़े थे) दोनों को मिले वोट में 1.7 फीसदी की कमी इस विधानसभा चुनाव में देखने को मिली थी. किताब के मुताबिक यहां ये देखना भी दिलचस्प होगा कि एसपी के कितने वोट बीजेपी और कांग्रेस की ओर ट्रांसफर हो जाते हैं. इन सभी तथ्यों के आधार पर सुरजीत भल्ला यूपी में बीजेपी को 62 सीटों पर जीतते हुए देख रहे हैं. आपको बता दें कि भल्ला मशहूर अर्थशास्त्री और राजनीतिक विश्लेषक हैं.