आपने हमेशा सुना होगा की केरल भारत का सबसे ज्यादा साक्षरता वाला राज्य है.आपने ये भी सुना होगा की पढ़े लिखे समाज में कुरीतियां बुराईयां कम होती हैं,लेकिन केरल आपकी इस धारणा को तोड़ सकता है.दरअसल केरल से बाल विवाह के चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं.इन आंकड़ों के मुताबिक 2017 में केरल में 19 साल से कम की 22,552 लड़कियों ने बच्चों को जन्म दिया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक ये आंकड़े केरल के राज्य आर्थिक और सांख्यिकी विभाग ने जारी किए हैं.रिपोर्ट के मुताबिक केरल में कुल बच्चों के 4.48 फीसदी बच्चों को 15 से 19 साल के बीच की लड़कियों ने जन्म दिया है.रिपोर्ट में एक खास बात ये भी सामने आई है की शहरी क्षेत्र इस मामले में ग्रामीण क्षेत्र से आगे है.शहरी क्षेत्र में जहां 16,639 महिलाएं मां बनी हैं वहीं ग्रामीण क्षेत्र में 5,913 महिलाओं ने 19 साल से कम उम्र में बच्चों को जन्म दिया है.आमतौर पर माना जाता है की ग्रामीण क्षेत्र में बाल विवाह जैसी कुरीतियां ज्यादा हैं.

इतना ही नहीं इनमें वो लड़कियां भी हैं 19 साल से कम उम्र में ही चार बच्चों तक की मां बन चुकी हैं.रिपोर्ट के मुताबिक ग्रामीण क्षेत्र में 137 ऐसी लड़कियां थीं जिन्होंने 19 साल से कम उम्र में दूसरे बच्चे को जन्म दिया.48 लड़कियां ऐसी थीं जिन्होंने तीसरे बच्चे को भी 19 साल से पहले ही जन्म दिया.37 महिलाओं ने चौथे बच्चे को भी 19 साल से कम उम्र में ही जन्म दे दिया था.

ये रिपोर्ट धार्मिक आधार पर भी सामने आई है.इसके मुताबिक सबसे ज्यादा मुस्लिम समाज की लड़कियां कम उम्र में मां बनी हैं.आंकड़ों के मुताबिक 17,082 मुस्लिम लड़कियां थीं जो कम उम्र में मां बनी हैं.मुस्लिमों के बाद हिंदू लड़कियों की संख्या है और 4,734 हिंदू लड़कियां कम उम्र में मां बनी हैं.ईसाई महिलाओं की संख्या यहां बेहद कम है और 702 लड़कियां यहां जीवन के 19 साल पूरे होने से पहले ही मां बन चुकी थीं.कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने अपने धर्म का खुलासा नहीं किया है.

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में केरल के सरकारी सूत्रों ने स्वीकार किया राज्य में बाल विवाह अभी भी होते हैं.इतना ही नहीं उनके मुताबिक ये संख्या बेहद कम है क्योंकि बाल विवाह के तमाम मामले सामने ही नहीं आते हैं.उनके मुताबिक केरल में युवा कम उम्र की लड़कियों से शादी करना चाहते ऐसे में ल़ड़कियों के माता पिता मजबूरी में कम उम्र में ही उनकी शादी कर देते हैं.