पाकिस्तान और चीन दोनों मिलकर भारत के खिलाफ एक नया कुचक्र रच रहे है। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के सीमावर्ती इलाकों में चीन की सेना सैन्य निर्माण कर रही है। ख़ुफ़िया रिपोर्ट के अनुसार चीन की पीपल लिब्रशन आर्मी न सिर्फ सैन्य निर्माण कर रही है बल्कि कई सीमावर्ती इलाकों में दोनों सेनाएं एक साथ मिलकर गश्त भी कर रही है।

सीमावर्ती इलाकों में जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल के लिए कई निर्माण कार्य किये जा रहे है जिसमे 150 से ज्यादा पाकिस्तानी सैनिक, 50 से ज्यादा स्थानीय मजदूर और इन सभी की निगरानी के लिए चीनी सेना के अफसर लगे हुए है। इंडिया टुडे के अनुसार इन मिसाइल का कण्ट्रोल रूम बडेल बाग में है। और पूरा कंट्रोल रूम चीन के सैनिकों के कब्जे में है।

नियंत्रण रेखा पर गश्त करने वाली पाकिस्तान की 12 इंफ़ेंट्री ब्रिगेड के साथ चीनी सैनिक भी गश्त करते हुए देखे जा सकते है। हाल के दिनों में कश्मीर में आतंकियों से बरामद हथियारों में 97 NSR टाइप राइफल को भी पाया गया है। ये राइफल चीन के सैनिकों द्वारा इस्तेमाल की जाती है और CPEC की सुरक्षा में लगे हुए पाकिस्तानी सैनिकों को भी दिए गए थे।

बीते दिनों चीन के प्रोपोगंडा मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने के चीन के सैनिकों का वीडियो जारी किया था। वीडियो लद्दाख में चल रहे तनाव के इलाके का था। 15-20 सैनिकों के इस ग्रुप में 2 सैनिक पाकिस्तानी लग रहे थे जिन्होंने पीपल लिब्रशन आर्मी की वर्दी पहन रखी थी।

दो दिन पहले भारतीय वायुसेना चीफ ने भी इस ओर इशारा करते हुए कहा था की भारतीय सेना की शक्ति को देखते हुए चीन को पाकिस्तानी सेना से हाथ मिलाना पड़ा है और भारतीय वायु सेना दोनों देशों से एक साथ युद्ध करने में सक्षम है।