बीजेपी लगातार दावा कर रही है कि वो पश्चिम बंगाल में बेहतर प्रदर्शन करने जा रही है. कुछ लोगों ने दावा किया कि बंगाल बीजेपी के लिए 2019 का यूपी साबित होने जा रहा है. बीजेपी के विरोधी भी इस बात का खुलकर खंडन नहीं कर पा रहे. अभी जो खबर सामने आ रही है उससे बीजेपी का दावा मजबूत ही दिखता है. दरअसल टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक बंगाल में कमजोर पड़ चुकी वामपंथी पार्टी सीपीएम के कैडर अब बीजेपी की मदद कर रहे हैं. पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से चेतावनी के बावजूद वो ऐसा कर रहे हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक खुद की पार्टी को तृणमूल के आगे कमजोर पाकर सीपीएम कार्यकर्ता बीजेपी के साथ हैं. वार्ड और बूथ लेवल के कार्यकर्ता बीजेपी की मदद कर रहे हैं. दरअसल बंगाल में 34 साल के वामपंथी शासन के अंत के बाद तृणमूल के राज में ये छोटे कार्यकर्ता खासे प्रभावित रहे हैं. ऐसे में उन्होंने बीजेपी को समर्थन का रास्ता अख्तियार है. इन सीपीएम कैडर ने एक नारा भी दिया है- उन्नीसे हाफ, इक्कीसे साफ यानि 2019 में हाफ और 2021 में साफ. रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी के नेता भी इस बात से इंकार नहीं कर रहे. कोलकाता उत्तर में सुदीप बंधोपाध्याय टीएमसी के मौजूदा सासंद और उम्मीदवार हैं. इनके खिलाफ बीजेपी के राहुल सिन्हा मैदान में हैं. यहां बीजेपी के पास मुश्किल से 500 कार्यकर्ता हैं. ऐसे में सीपीएम के कैडर बीजेपी को मदद कर रहे हैं. कागज पर न सही लेकिन दोनों के बीच एक समझौता हुआ है. जिसके अनुसार जहां बीजेपी के पोलिंग एजेंट नहीं होंगे वहां बीजेपी और सीपीएम के कार्यकर्ता बूथ पर नजर रखेंगे.

इस बीच सीपीएम पोलित ब्यूरो ने कार्यकर्तायों को चेतावनी देते हुए इसे आत्मघाती बताया है. पोलित ब्यूरो के संदेश के मुताबिक, "खुद को तृणमूल से बचाने के लिए बीजेपी के करीब जाने की कोशिश न करें. त्रिपुरा की तरफ देखें यहां उन्होंने जो 14 महीनों में किया है वो तृणमूल के आतंक से कहीं ज्यादा है. उन्हें इस तरह से आमंत्रित न करें. ये बहुत बड़ी भूल होगी. ये आत्मघाती निर्णय होगा. "

ममता बनर्जी के भाषणों में भी ये बात साफ होती है. वो कहती हैं, "हारमाड्स (कॉमरेड कार्यकर्ता) फिर से ऐसा कर रहे हैं. वो हमारे दुश्मनों की मदद कर रहे हैं. इनसे सावधान रहो." बीजेपी के दावे, तमाम मीडिया रिपोर्ट, ममता बनर्जी के पीएम पर तीखे हमले, बहुत कुछ कह रहे हैं लेकिन फिर भी आखिर बंगाल में क्या होने जा रहा है इसका पता 23 मई को ही चलेगा.