उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के असोहा थाने के बबुरहा इलाके में 3 लड़कियां बेहोशी की हालत में पायी गयी। तीनों लड़कियों के मुँह से झाग निकल रहा था और उनके हाथ पैर बंधे हुए पाए गए। ग्रामीणों द्वारा पुलिस को सूचना देने पर जब पुलिस उन्हें हॉस्पिटल लेकर पहुंची तो डॉक्टरों ने दो लड़कियों को मृत घोषित कर दिया। तीसरी लड़की को गंभीर हालत में कानपुर के रीजेंसी हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है।

मृतक लड़कियों की उम्र 13 और 16 साल है जबकि गंभीर हालत में भर्ती लड़की की उम्र 17 साल है। पुलिस घटना को जहरखुरानी और आत्महत्या से जुड़ा हुआ बता रही है। घटनास्थल पर किसी भी तरह के संघर्ष का कोई निशान नहीं मिला है। पुलिस को शुरूआती जाँच में किसी भी तरह के कोई चोट के निशान भी नहीं मिले है।

पुलिस के अनुसार लड़कियों के कपड़े भी अस्त व्यस्त नहीं पाए गए पर लड़कियों के भाई का कहना है की लड़कियों के हाथ पैर बंधे हुए थे। भाई के अनुसार लड़कियां चारा लेने गयी हुई थी पर जब देर तक वापस नहीं आयी तो हम उन्हें ढूंढने गए और तीनों लड़कियों के हाथ पैर चुन्नी से बंधे हुए थे और बेहोशी की हालत में थी।

एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार के अनुसार लड़कियां 3 बजे अपने खेत पर गयी थी और शाम को उनके घर वालो ने उन्हें बेहोशी की हालत में पाया।