उत्तर प्रदेश में बीजेपी की योगी सरकार के तमाम कोशिशों के बावजूद अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहे है। कल हरदोई जिले के माधौगंज थाना के अंतर्गत कुरसठ निवासी गणेश प्रसाद, जो की एक रिटायर्ड शिक्षक थे की उनके ही पड़ोस में रहने वाले कुछ दबंगो ने ईट पत्थर और लाठी डंडो से पीट कर हत्या कर दी। घटना के वक्त पिता को बचाने आये सबसे बड़े बेटे को भी पीट पीट कर अधमरा कर दिया गया।

घटना के पीछे जमीन का विवाद होना बताया गया है। हमलावर संतोष, नरसिंह, नरेंद्र, लालू व शिवम मृतक गणेश प्रसाद के पड़ोसी है। घटना के समय गणेश प्रसाद अपने घर के अहाते में बैठे हुए थे तभी हमलावरों ने लाठी डंडे और पत्थरों से हमला कर दिया। पिता को पिटता देख बचाने आये बेटे अजातशत्रु को भी लाठी डंडो से पीट कर बुरी तरह घायल कर दिया और मौके से फरार हो गए।

दोनों घायल पिता पुत्र को गांव के लोग अस्पताल ले कर पहुंचे जंहा डॉक्टरों ने 68 वर्षीय प्रसाद को मृत घोषित कर दिया और पुत्र को गंभीर हालत में जिला हॉस्पिटल के लिए रेफेर कर दिया। माधौगंज पुलिस ने धारा 302 हत्या और 120 बी आपराधिक साजिश के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। पर अभी तक पुलिस ने एक भी गिरफ्तारी नहीं की है। हमलावर इलाके की प्रभावशाली कुर्मी जाति से है। कुर्मी बिरादरी के लोग इलाके में राजनीतिक रूप से काफी प्रभावशाली रहे है। एक समय में प्रदेश की राजनीति के दिग्गज रहे रामआसरे वर्मा भी इसी इलाके से आते थे। मौजूदा समय में बीजेपी से विधायक आशीष सिंह आशु भी कुर्मी बिरादरी से है। देखने वाली बात यह होगी की पुलिस बिना किसी दबाव में निष्पक्ष रूप से काम कर पाती है या नहीं।

मृतक गणेश प्रसाद रिटायर होने से पहले पास ही के क़स्बा बिलग्राम में बीजीआरएम इंटर कॉलेज में गणित के शिक्षक थे और छात्रों के बीच अपने सरल स्वाभाव के कारण काफी लोकप्रिय थे।