यूपी जनसंख्या समेत कई लिहाज से नंबर एक पर आता है. जनसंख्या से लेकर लोकसभा सीटों तक के मामले में ये नंबर एक है. आपको ये जानकर शायद हैरानी हो कि यूपी जनसंख्या ही नहीं आवारा कुत्तों की संख्या के मामले में भी नंबर एक पर है. यहां 41 लाख से ज्यादा आवारा कुत्ते हैं. आवारा कुत्तों की संख्या के मामले में शीर्ष प्रदेशों में उत्तर, दक्षिण और पश्चिम सभी राज्यों का प्रतिनिधित्व है. यूपी के बाद शीर्ष 5 प्रदेशों की सूची में आँध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, एमपी और पश्चिम बंगाल का नंबर आता है.

2012 में हुई जानवरों की गणना में ये आंकड़े सामने आए हैं. आंकड़ों के मुताबिक यूपी में आवारा कुत्तों की संख्या सबसे ज्यादा है. यहां 41 लाख 79 हजार आवारा कुत्ते हैं. यूपी के बाद दक्षिण भारत के राज्य आंध्र प्रदेश का नंबर आता है. यहां 12 लाख 37 हजार आवारा कुत्ते हैं. इसके बाद महाराष्ट्र का नंबर आता है जहां 12 लाख 16 हजार आवारा कुत्ते हैं. एमपी में 12 लाख 8 हजार आवारा कुत्ते हैं. इसके बाद पश्चिम बंगाल का नंबर आता है जहां 11 लाख 57 हजार आवारा कुत्ते हैं.

ऊपर तो हमने आपको उन प्रदेशों के नाम बताए जो आवारा कुत्तों की संख्या के मामले में शीर्ष पर हैं. अब हम आपको उन देशों के नाम बताने जा रहे हैं जहां आवारा कुत्तों की संख्या सबसे कम है. खास बात ये है कि ये सभी पूर्वोत्तर के राज्य हैं. मिजोरम वो प्रदेश है जहां आवारा कुत्तों की संख्या शून्य है. यहां एक भी आवारा कुत्ता नहीं है. इसके बाद लक्षद्वीप की बात करें तो यहां भी आवारा कुत्तों की संख्या शून्य है. नागालैंड में भी आवारा कुत्तों की संख्या दहाई से कम है. यहां महज 7 आवारा कुत्ते हैं. इसके बाद मणिपुर का नंबर आता है जहां 23 आवारा कुत्ते हैं. पूर्वोत्तर के राज्यों में आवारा कुत्तों की सबसे ज्यादा संख्या अरूणाचल प्रदेश में है. यहां 464 आवारा कुत्ते हैं.