तमिलनाडु के पोल्लाची में बीते दिनों यौन शोषण का एक गंभीर मामला सामने आया है.दरअसल पोल्लाची में बीते दिनों एक गैंग का खुलासा हुआ जिसने 60 महिलाओं धमकाया और उनका यौन शोषण किया.गैंग के 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.सभी आरोपी 20-30 साल की उम्र के बीच के हैं.बीती फरवरी में यौन शोषण के केस में एक आरोपी की गिरफ्तारी के बाद जांच में अन्य मामलों का भी खुलासा हुआ.राज्य सरकार ने फिलहाल CBI जांच की सिफारिश कर दी है.अधिकतर पीड़ित महिलाओं ने पुलिस में शिकायत करने से मना कर दिया.

ये पूरा मामला फरवरी में सामने आया.जब 19 साल की एक लड़की ने एक आरोपी पर रेप और ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया.लड़की ने आरोप लगाया की फेसबुक पर दोस्ती के बाद जब वो आरोपी से मिलने के लिए कार में गई तो वहां आरोपी ने उसका यौनशोषण किया.इस दौरान उसके साथियों ने वीडियो भी बना लिया.आरोपियों ने पीड़ित को वीडियो पब्लिश करने की धमकी दी और बार बार मुलाकात और पैसों की मांग की.पीड़ित के भाई ने जब आरोपियों से वीडियो डिलीट करने की मांग तो उसे भी आरोपियों ने धमकाया.ऐसे में पीड़ित के परिवार ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई.इसके बाद जांच में पुलिस को आरोपियों के फोन से 50 से ज्यादा महिलाओं के फोटो मिले जिसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ.अधिकतर पीड़ित महिलाओं ने पुलिस में शिकायत करने से मना कर दिया.पुलिस ने इस मामले में जनता से अपील की थी की अगर वो अन्य आरोपियों को जानते हैं तो सामने आकर शिकायत दर्ज करवाएं

वहीं इस मामले में एक आरोपी के सत्ताधारी AIADMK का सदस्य होने के बाद राजनीति शुरू हो गई है.आरोपी की एक मंत्री के साथ फोटो वायरल होने के बाद पार्टी ने उसे निकालने का एलान किया.सबसे पहले DMK प्रमुख एमके स्टालिन ने इस मामले में सरकार पर आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया.उसके बाद राज्यसभा सांसद कनिमोझी के नेतृत्व में महिला कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर सरकार को घेरा.इस मामले में न केवल विरोधियों बल्कि सहयोगियों के सामने भी सरकार घिरी है.पीएमके नेता अंबुमणि रामदास ने भी आरोपियों के लिए कड़ी से कड़ी सजा की मांग की है.