राजस्थान के राजसमंद में एक मुस्लिम मजदूर को वीडियो में जलाकर मार देने वाला शंभूलाल रैगर अगले लोकसभा चुनाव में बतौर प्रत्याशी मैदान में नजर आ सकता है.दरअसल उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना नाम का संगठन शंभूलाल को आगरा से उम्मीदवार बनाने पर विचार कर रहा है.आगरा लोकसभा सीट सुरक्षित है और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति और जनजाति आयोग के प्रमुख रामशंकर कठेरिया इस सीट से बीजेपी सांसद हैं.आपको बता दें की रैगर इस समय राजस्थान की जोधपुर जेल में बंद है.

नवनिर्माण सेना के प्रमुख अमित जानी ने इस बारे में कहा,"अगर किसी व्यक्ति पर हत्या का आरोप है तो इसका मतलब ये नहीं है की हत्या उसी ने की है.दोषी ठहराए जाने तक रैगर के पास चुनाव लड़ने का संवैधानिक अधिकार है.रैगर को चुनाव लड़ने का ऑफर दिया गया था जो उसने स्वीकर कर लिया है.वो पार्टियां अब इस बारे में सवाल उठाएंगी जिन्होंने सेकुलरिज्म के नाम पर अतीक अहमद,मुख्तार अंसारी औैर शहाबुद्दीन को टिकट दिया.रैगर पर इन लोगों की तुलना में बेहद हल्के आरोप हैं."

जानी ने कहा की रैगर को बीजेपी को ही राजस्थान से टिकट देना चाहिए था लेकिन बीजेपी ऐसा नहीं करेगी इसलिए उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना उसे उत्तर प्रदेश से मैदान में उतारेगी.गौरतलब है की बीती 6 दिसंबर को शंभूलाल रैगर ने अफराजुल नाम के एक बंगाली को मजदूर को फांसी पर लटकाने के बाद जलाकर मार दिया था.घटना का वीडियो जारी करते हुए रैगर ने दावा किया था लव जिहाद के कारण उसने अफराजुल को मारा है.