हाल ही में जम्मू-कश्मीर को लेकर विवादित टिप्पणी करने वाले कांग्रेसी नेता सैफुद्दीन सोज ने एक और विवादित टिप्पणी की है.सोज का कहना है कि देश के प्रथम गृहमंत्री सरदार पटेल हैदराबाद के बदले कश्मीर पाकिस्तान को देना चाहते थे हालांकि पंडित नेहरु इस बात से सहमत नहीं थे. सोज ने यह बयान अपनी किताब कश्मीर:ग्लिम्प्ज ऑफ हिस्ट्री एंड द स्टोरी ऑफ स्ट्रगल के लांचिंग के मौके पर दिया.

सरदार पटेल और नेहरु को भारत का सच्चा सबूत बताते हुए सोज ने कहा कि पटेल ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री लियाकत अली खां को कश्मीर देने का ऑफर दिया था. विभाजन के लिए बनी काउंसिल की एक बैठक में पटेल ने खां से कहा, "हैदराबाद के बारे में बात मत करिए, ये आपके देश से समुद्र या रोड किस रास्ते से जुड़ा हुआ है. आप उस पर किस तरह दावा कर सकते हैं ? हैदराबाद आपको बिल्कुल नहीं मिल सकता.

आपको बता दें कि सोज की पार्टी कांग्रेस ने अपने नेताओं को उनकी किताब के विमोचन कार्यक्रम से दूर रहने को कहा था.पी. चिदंबरम पहले इस कार्यक्रम का हिस्सा बनने वाले थे लेकिन पार्टी की हिदायत के बाद उन्होंने भी इस कार्यक्रम से दूरी बनाना उचित समझा.हालांकि पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश कार्यक्रम का हिस्सा बनें.रमेश के अतिरिक्त पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी और वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैय्यर भी कार्यक्रम में शामिल हुए.

बुक लॉंचिंग के मौके पर सोज ने कहा कि ये मेरी किताब है और कांग्रेस का इससे कोई लेना देना नहीं है. इस किताब के लिए मैं पूरी तरह से जिम्मेदार हूं और कांग्रेस को इससे कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए.