सरकार की प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के कारण भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एलपीजी (LPG) उपभोक्ता बन गया है.एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या में सालाना के आधार पर 15 प्रतिशत वृद्धि हुई है.साल 2017-18 में देश में एलपीजी कस्टमर की संख्या 22.4 करोड़ पहुंच गई है.एलपीजी की मांग बढ़ने से चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरा बड़ा उपभोक्ता बन गया है.

पेट्रोलियम सचिव एमएम कुट्टी के मुताबित, 2025 तक एलपीजी उपभोग बढ़कर 3.03 करोड़ टन पर पहुंच जाएगा.2040 तक यह आंकड़ा 4.06 करोड़ टन होगा.कुट्टी ने कहा कि सरकार ने देशभर में एलपीजी के उपभोग को प्रोत्साहन देने के लिए कई कदम उठाए हैं.विशेषरूप से ग्रामीण परिवारों में एलपीजी उपभोग को प्रोत्साहन दिया जा रहा है.ग्रामीण परिवार परंपरागत ईंधन पर निर्भर रहते हैं जो उनकी सेहत को तो नुकसान पहुंचाता ही है साथ ही इससे प्रदूषण भी बढ़ता है

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) की शुरुआत 1 मई 2016 को की गई थी. इसके तहत अब तक 6.31 करोड़ कनेक्शन उपलब्ध कराए गए हैं. सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधान ने कहा कि योजना के तहत तीन साल मे पांच करोड़ गरीब महिलाओं को LPG कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है. इसके तहत अब तक छह करोड़ गरीब महिलाओं को LPG कनेक्शन दिया जा चुका है और अब 2020 तक आठ करोड़ कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया है.