मुलायम सिंह यादव कभी मोदी की प्रशंसा करते हुए नज़र आते हैं कभी उन्हें दोबारा प्रधानमंत्री बनने के लिए अपनी शुभकामनाएं देते हैं वो भी ठीक इलेक्शन से पहले। इस बार मुलायम ने वो काम कर दिया हैं जिसकी कल्पना उनके सुपुत्र अखिलेश यादव ने भी नहीं की होगी।

मुलायम सिंह ने आतंकवाद विरोधी कानून पर लोकसभा में हुए मतदान के दौरान मोदी सरकार के समर्थन में वोट कर दिया। वो भी तब जब तमाम विपक्षी पार्टियां बिल का विरोध करते हुए लोकसभा से बाहर चली गयी। समाजवादी पार्टी ने भी बिल का विरोध करते हुए सदन से वाकआउट किया।

पर मुलायम सिंह सदन में ही बैठे रहे और बिल के समर्थन में वोट किया। भारी शोरगुल और हंगामे के बीच बिल लोकसभा से पास हो गया।