आजकल पाकिस्तान के मियां इमरान खान अमेरिकी दौरे पर है। जब पाकिस्तान पहुंचे तो कई खबरें चली कुछ में इमरान खान को अमेरिकियों के द्वारा सम्मान न देने की खबर चली। ये खबर भी चली की पाकिस्तान ने अमेरिकी गृह विभाग को 250000 डॉलर देने की भी बात कही की भाई पैसे ले कर ही स्वागत कर दो पर अमरीकी तैयार नहीं हुए।

उसके बाद इमरान मियां पहुंचे ट्रम्प से मिलने उनके निवास यानि की वाइट हाउस। वैसे पाकिस्तानी नेता अकसर विदेशी दौरों पर या विदेशी राष्ट्र प्रमुखों से मिलते वक्त अजीबोगरीब हरकत के लिए कुख्यात है। नवाज शरीफ का वो वीडियो तो याद ही होगा जिसमे मोदी से मिलते वक्त कैमरा के सामने खुजली करते हुए कैद हो गए थे।

इमरान खान ने सऊदी शाह के साथ जो हरकत की वो भी किसी से छिपी नहीं है। ट्रम्प से मिलते वक्त भी इमरान खान पैरों के ऊपर पैर रख के बड़े ही घरेलू अंदाज में बैठ कर इस तरह से बात कर रहे थे जैसे स्कूल की क्लॉस का दब्बू बच्चा बिगड़ैल बच्चे से बार बार ये कह रहा हो आप तो दुनिया के सबसे ताकतवर देश के सबसे ताकतवर नेता है, एक हमारा पड़ोसी देश है भारत उससे हमारा पीछा छुड़ा दो भाई।

बार बार ताकतवर कह देने से जैसे मोटी बुद्धि का बिगड़ैल बच्चा जोश में आकर बड़ी बड़ी बातें करने लगता है वैसे ही ट्रम्प ने भारत का उड़ता तीर जो पाकिस्तान की तरफ जा रहा था उसे अपनी तरफ मोड़ लिया। और जोश में कह बैठे हाँ वो मोदी तो मेरा जिगरी दोस्त है पिछले हफ्ते ही मिला था कह रहा था की यार वो कश्मीर पर निपटारा करा दो। अब तुम दोनों ही जब तैयार हो तो मैं बैठ के बात करा देता हूँ।

इतना कहना था की मोदी की छींक पर भी ये कह कर हल्ला मचाने वाले पत्रकार की ये छींक कर बैक्टीरिया फैला रहा हैं उन्होंने ट्रम्प को लपक लिया और लगे ट्वीट करने की अब बताओ मोदी भाई ट्रम्प को झूठा कहोंगे या ये मानोंगे की कश्मीर पर अमेरिका को बीच में डाला हैं।

इन पत्रकारों को ये लगा की मोदी सरकार खुलेआम ट्रम्प को झूठा कहने से बचेगी और बैठे बैठे मोदी को घेरने का एक बढ़िया मौका मिल गया। पर हुआ कुछ इसके उलट कुछ ही देर में विदेश मंत्रालय ने ट्रम्प के बयान को नकार दिया। अब ट्रम्प को उनके ही देश के तमाम नेता और पत्रकार देश की बदनामी कराने के लिए घेर रहे हैं।

वाइट हाउस ट्रम्प के फैलाये रायते को समेट के सफाई करने में जुटा हैं। पूरी दुनिया का मीडिया भारत और अमेरिका की बात करने में लग गया हैं और मियां इमरान मुख्य कवरेज से बाहर हो गए हैं। मोदी ने घर बैठे बैठे इमरान खान की महफ़िल लूट ली हैं।