कर्नाटक विधान परिषद् के डिप्टी स्पीकर और जनता दल(सेक्युलर) के नेता एसएल धर्मेगौड़ा का शव रेलवे ट्रैक से बरामद हुआ हैं। पुलिस के अनुसार मामला आत्महत्या का मालूम होता है और पुलिस को घटनास्थल से एक सुसाइड नोट भी मिला हैं।

पुलिस हर एंगल से मामले को जाँच रही हैं। कुछ दिन पहले ही विधानपरिषद में धर्मेगौड़ा के साथ कांग्रेस के नेताओं ने बदसलूकी की थी और उन्हें कुर्सी से खींच लिया था। धर्मेगौड़ा का शव चिकमंगलुरु के कादूर के निकट रेलवे स्टेशन से मिला हैं।

चिकमंलुरु के डिप्टी कमिश्नर का कहना हैं की मौत के सही कारणों का पता पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ही चलेगा। बीजेपी और जनता दल(सेक्युलर) के बड़े नेता मौके पर पहुंच गए हैं। धर्मेगौड़ा के भाई भोजेगौडा जो खुद भी एमएलसी हैं मौके पर पहुंच गए हैं। टाइम्स ऑफ़ इंडिया के अनुसार धर्मेगौड़ा अपने घर से शाम 7 बजे निकले थे और उसके बाद से गायब थे।

धर्मेगौड़ा को पुलिस सुरक्षा मिली हुई थी पर घर से निकलते वक्त वो बिना किसी सुरक्षा के अपनी व्यक्तिगत कार में ड्राइवर के साथ निकले। जिस जगह पर उनका क्षत विक्षत शव मिला हैं वंहा पहुंचने के बाद किसी परिचित व्यक्ति का फ़ोन उन्हें आया। इसी दौरान उन्होने ड्राइवर को घर जाने को कह दिया। इस दौरान वह ट्रेन के आवागमन के बारें में पूछ रहे थे।

बाद में उनका फ़ोन बंद हो गया। काफी देर तक उनसे संपर्क न हो पाने के कारण उनके सुरक्षा दल और घर वालों ने तलाश शुरू की। देर रात उनका शव पटरी पर क्षत विक्षत अवस्था में मिला। जनता दल(सेक्युलर) के नेता और पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा ने शोक व्यक्त करते हुए कहा हैं की धरमेगौडा बेहद शांत और सौम्य स्वाभाव के नेता थे, उनके निधन से राज्य का काफी नुकसान हुआ हैं।