दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में चल रहे बवाल पर अलग अलग जगह छात्रों का प्रदर्शन जारी है। मुंबई में गेट वे ऑफ़ इंडिया पर प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हटा दिया है और उन्हें आज़ाद मैदान शिफ्ट कर कर दिया गया है।

मुंबई में चल रहे प्रदर्शन में वामपंथी विचारधारा से प्रेरित कुछ फ़िल्मी कलाकारों जैसे अनुराग कश्यप, तापसी पन्नू आदि ने भी प्रदर्शन में भाग लिया था। प्रदर्शन के दौरान कुछ लोगों द्वारा कश्मीर की आज़ादी जैसे पोस्टर भी दिखाए थे। जिसके बाद महारष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना के नेता और मौजूदा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर तंज करते हुए कहा की क्या वो कश्मीर की आज़ादी के नारों का समर्थन करते है।

शिवसेना नेता संजय राउत ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा की जिन छात्रों ने कश्मीर की आज़ादी के पोस्टर दिखाए थे उन्होंने कश्मीर में इंटरनेट की आज़ादी की मांग उठायी थी। साथ ही ये भी कहा की शिवसेना कश्मीर की आज़ादी जैसे नारों को कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।

इससे पहले रविवार को जेएनयू के कई हॉस्टल में छात्रों और प्रोफेसर की पिटाई की गयी थी। हमला करने वालों ने चेहरे को नकाब से ढक रखा था। जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आईशी घोष की भी पिटाई की गयी थी जिसमे उनका सिर फट गया था। सोशल मीडिया पर चल रहे कई वायरल वीडियो में आईशी घोष को नकाबपोश भीड़ के साथ देखा जा सकता है। जेएनयू प्रशासन ने आज आईशी घोष के खिलाफ सुरक्षाकर्मियों से मारपीट करने, परीक्षा के लिए किये जा रहे रजिस्ट्रेशन के सर्वर रूम में तोड़फोड़ करने और बलवा करने के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई गयी है।

जेएनयू में हुई मारपीट और खून खराबे के लिए लेफ्ट समर्थित छात्र और बीजेपी के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् से जुड़े हुए छात्र एक दूसरे पर आरोप लगा रहे है।