भारत द्वारा कैरीबियाई देश डोमिनिका को भेजी गयी कोरोना वैक्सीन की खेप पहुंचने के बाद वंहा के प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत सरकार की खूब प्रशंसा की है।

डोमिनिका के प्रधानमंत्री खुद एयरपोर्ट पर भारत द्वारा भेजी गयी वैक्सीन की खेप को रिसीव करने पहुंचे। उसके बाद एक सम्बोधन में भारत और प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया करते हुए उन्होंने कहा की उन्हें उम्मीद नहीं थी की 72000 की आबादी के इस छोटे से देश को प्रधानमंत्री मोदी इतनी जल्दी मदद करेंगे। जिस तेजी के साथ भारत ने डोमिनिका की मदद की है वह बेहद ही सराहनीय है।

उन्होंने आगे कहा की भारत द्वारा भेजी गयी वैक्सीन के 70000 डोज से देश जल्द ही कोरोना मुक्त हो जायेगा। 22 फ़रवरी से पूरे डोमिनिका में अब तक का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू होगा। प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट ने ट्विटर पर प्रधानमंत्री मोदी को टैग करते हुए इस मदद के धन्यवाद दिया।

भारत में कोरोना महामारी के खिलाफ टीकाकरण की शुरुआत के साथ ही सरकार ने पूरी दुनिया में तमाम छोटे देशों को कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध कराई है। पड़ोसी देशों में नेपाल, भूटान, श्रीलंका, मालदीव के अलावा अफ्रीका के तमाम देशों को भारत ने कोरोना वैक्सीन के डोज भेजे है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्विटर पर ट्वीट कर बताया की कनाडा के प्रधानमंत्री ने उन्हें फ़ोन कर वैक्सीन के लिए मदद मांगी है और भारत सरकार ने कनाडा को हर संभव मदद का भरोसा दिया है।

कोरोना महामारी के वैश्विक संकट के इस दौर में भारत सरकार ने जिस तरह से वैक्सीन दे कर न सिर्फ विदेशी संबंधो को मजूबत किया है बल्कि भारत की पहचान संकट के समय काम आने वाले एक मित्र देश के तौर पर बन कर उभरी है। महामारी के इस दौर में बदलती वैश्विक परिस्तिथियों में भारत एक ग्लोबल शक्ति बन कर उभरा है।