जनधन योजना से तमाम लोगों को बैंकिंग सेक्टर से जोड़ने के दावों के बावजूद अभी भी भारत उन देशों की सूची में दूसरे नंबर पर है जिनमें लोग बैंकिंग सेक्टर से नहीं जुड़े हैं.हालांकि टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक 2014 से 2017 के बीच लोगों को बड़ी संख्या में बैंकिंग सेक्टर से जोड़ा गया है.इस दौरान बैंकिंग सेक्टर से जुड़े लोग 53 फीसदी से 80फीसदी तक पहुंच गए हैं.भारत में करीब 191 मिलियन लोग ऐसे हैं जो 15 साल से ऊपर के हैं लेकिन उनके पास बैंक अकाउंट नहीं है.भारत इस सूची में ऊपर में सिर्फ उसका पड़ोसी देश चीन है जहां आज भी 15 साल की उम्र से ऊपर के 224 मिलियन लोग ऐसे हैं जिनके पास बैंक अकाउंट नहीं है.

आकंड़ों के अनुसार 2011 में भारत में कुल 35 फीसदी आबादी के पास बैंक अकाउंट था.इस समय में 44 फीसदी पुरुष ऐसे थे जिनके पास बैंक अकाउंट था जबकि महिलाओं में 26 फीसदी के पास ही बैंक अकाउंट था. यूपीए सरकार के दौरान ही संख्या में इजाफा हुआ हालांकि इन तीन सालों में बैंक अकाउंट रखने वाले लोगों की संख्या में कुल 17 फीसदी का इजाफा हुआ यानि कुल आबादी के 53 फीसदी लोग बैंकिंग सेवा से जुड़ गए थे.इस दौरान देश के पुरुषों की 62 फीसदी आबादी बैंकिंग सेवा से जुड़ गई थी.जबकि महिलाओं में कुल 44फीसदी आबादी बैंकिंग सेवा से जुड़ पाई.