आम जनता को भक्त और चू%या कहने वालो अगले इलेक्शन में इन्ही चू%यो से वोट मांगने भी जाना है।

Nishant Trivedi's picture
Nishant Trivedi Tue, 09/19/2017 - 04:43 Congress, Manish Tweari, Social Media

आजकल नेताओ, पत्रकारों में एक होड़ सी लगी हुई है की कौन कितने निचले स्तर की भाषा का प्रयोग कर सकता है। पहले प्रधानमंत्री मोदी को सोशल मीडिया पर इस बात के लिए घेरा (ट्रोल शब्द का प्रयोग न करके "घेरा" इसलिए प्रयोग कर रहा हु क्यों की ''ट्रोल" का राइट्स सिर्फ पत्रकार "स्वाति चतुर्वेदी" के पास है) गया की जिसे वो फॉलो करते है उसने वामपंथी पत्रकार जिनकी गोली मार के हत्या कर दी गयी थी उनके लिए अशब्द का प्रयोग किया। सही बात है अगर मोदी ने ऐसे लोगो को अपने ट्विटर के शुरआती दिनों में फॉलो कर भी लिया था तो उन्हें अब अपनी फॉलोइंग लिस्ट से हटा देना चाहिए।
पर हाशिये पर चल रही कांग्रेस के कुछ बिगड़ैल मुँह वाले नेताओ को जाने किसने ये सलाह दे दी की वो निचले स्तर की गली मोहल्ले की भाषा का प्रयोग ट्विटर पर करने लगे। ये वही कांग्रेस के नेता है जो १० साल के कार्यकाल में कभी भी हिंदी में बात करते नहीं नजर आये। अगर आपको विश्वास नहीं हो रहा तो पुराने वीडियो देख ले। मनीष तिवारी, कपिल सिब्बल, आनंद शर्मा, पुरे १० साल अमेरिकन अंदाज में अंग्रेजी बोलते नजर आये। आज उत्तर प्रदेश के लोकल भाषा की आड़ लेकर गलियां बकते नजर आ रहे है।
वैसे पिछले कुछ महीनो में इस तरह का अधिकार आम आदमी पार्टी के खास नेताओ के पास था पर जनता की बेरुखी ने उनके होश ठीक कर दिए। अरविन्द केजरीवाल को एक मांझा हुआ नेता इसलिए माना जाना चाहिए क्यों की उन्होंने अपनी गलतिओ को सुधारते हुए काम पर धयान लगाना शुरू कर दिया।
पर कांग्रेस के तथाकथित युवा और वरिष्ठ नेताओ को जाने ये बात कब समझ में आएगी की नेगेटिव कैंपेन का फायदा हमेशा मोदी और बीजेपी को मिलता है। कांग्रेस अगर अपने पुराने रिकॉर्ड देख ले तो उसे ये समझना चाहिए की मोदी को प्राइम मिनिस्टर बनाने में एक महत्पूर्ण रोल कांग्रेस और उसके आगे पीछे घूमने वाले कुछ पत्रकारों का भी है।
विपक्ष के नेताओ ने जो आम पब्लिक पर लेवलिंग की शुरुआत की है, शायद उन्हें मालूम नहीं की वो अपने ही पैरो पर कुल्हाड़ी किस तरह मार रहे है। कांग्रेस के नेताओ ने आम आदमी पार्टी के चलन को बढ़ाते हुए आम पब्लिक को "भक्त" कह कर कोसना शुरू किया है। आप को समझना चाहिए जिसे आप भक्त कह के बुला रहे है हो सकता है वो अगले इलेक्शन में आप को वोट करता अगर मोदी के काम काज से सन्तुस्ट नहीं होता। पर दुनिया में ऐसा कौन मतदाता होगा जो दिन रात पानी पी पी कर कोसे जाने के बाद उस पार्टी को वोट करे।
जो आज एक पार्टी को वोट कर रहा है कल दूसरे को करेगा तभी दूसरी पार्टी की सरकार बनेगी पर जब आप खुद से ही उसे एक लेवेल लगा के गाली देंगे तो वो कितना भी मौजूदा सरकार से नाराज होगा पर आपको वोट नहीं देगा।
अगर आप खुद को नेता कहते है तो कम से कम सही भाषा का प्रयोग करना सीख ले और पब्लिक को गाली देना बंद कर दे। वरना जिस तरह से पब्लिक ने आपको हिंदी बोलना सीखा दिया भाषा भी वो सही कर देगी।

up
187 users have voted.

Read more

Post new comment

Filtered HTML

  • Web page addresses and e-mail addresses turn into links automatically.
  • Allowed HTML tags: <a> <em> <strong> <cite> <blockquote> <code> <ul> <ol> <li> <dl> <dt> <dd>
  • Allowed pseudo tags: [tweet:id] [image:fid]
  • Lines and paragraphs break automatically.

Plain text

  • No HTML tags allowed.
  • Web page addresses and e-mail addresses turn into links automatically.
  • Lines and paragraphs break automatically.