अमेरिका में बड़े डेम्रोकेट नेताओं और डॉनल्ड ट्रंप आलोचकों के घर पाइप बम मिलने का सिलसिला जारी है.आज अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन और मशहूर एक्टर रॉबर्ट डी नीरो के घर से भी बम बरामद हुए.बिडेन ने बराक ओबामा के समय में उपराष्ट्रपति पद की जिम्मेदारी संभाली थी वहीं डी नीरो को भी ट्रंप के मुखर आलोचक के तौर पर जाना जाता है.अमेरिका में कांग्रेस के मध्यावधि होने में बस 2 हफ्ते का समय बाकी है.ऐसे में आलोचक इन घटनाओं को डॉनल्ड ट्रंप की फैलाई गई राजनीतिक नफरत का परिणाम बता रहे हैं.
नेताओं के घरों से बरामद हो रहे ये बम करीब 6 इंच लंबे हैं.इनमें एक छोटी बैट्री लगी है साथ ही ये पाउडर और टूटी हुई कांच भरे हुए हैं.इन बमों को वर्जिनिया की एफबीआई लैब में जांच के लिए भेजा गया है.एफबीआई निदेशक क्रिस्टोफर रे ने मीडिया में एक बयान जारी कर इन बमों को भेजने के जिम्मेदार लोगों की पहचान करने और गिरफ्तार करने की बात कही है.

वहीं राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने एक रैली में इन घटनाओं की कड़ी निंदा की है.अमेरिका के विस्कांसिन प्रांत में एक रैली को संबोधित करते हुए ट्रंप ने राजनीतिक हिंसा के खतरे के खिलाफ एक होने का आवाहन किया.ट्रंप ने मीडिया से भी नकारात्मक खबरों को बंद करके शत्रुता खत्म करने की अपील की.ट्रंप ने कहा,"राजनीतिक हिंसा का किसी भी तरह का प्रयास अपने आप में हमारे लोकतंत्र पर हमला है.आज सुबह जो कुछ भी हुआ हम उससे बुरी तरह नाराज और परेशान हैं और हम जल्द ही इसका निदान करेंगे".

ट्रंप ने आगे कहा,"हमारे मतभेदों को हल करने का एक ही तरीका और वो है बैलेट बॉक्स में वोट करना.व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने भी एक बयान जारीकर बम मिलने की घटनाओं की निंदा की है और इन्हें आतंकी घटनाओं के साथ साथ नफरत के योग्य भी बताया है.

आपको बता दें की अमेरिका में पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन,बराक ओाबामा के घर पाइप बम बरामद हुए हैं.वहीं मशहूर न्यूज चैनल सीएनएन के दफ्तर में भी एक बम मिला था.अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के पूर्व प्रमुख जॉन बर्नन के नाम से आए पैकेज में मिले बम के बाद दफ्तर को खाली करा लिया गया था.बर्नन राष्ट्रपति ट्रंप के आलोचक हैं और सीएनएन पर एक विश्लेषक के तौर पर अपनी राय रखते हैं.